Search This Blog

  • ()
  • ()
Show more
Money Sanchay. Theme images by MichaelJay. Powered by Blogger.

Follow by Email

चेतावनी

इस वेबसाइट पर दी गई जानकारी लेखक ने अपने स्तर से अवलोकन किया है और आपके समक्ष प्रस्तुत किया है | ये वेबसाइट आपको सलाह देती है कि कहीं भी किसी निवेश योजना में पैसा लगाने से पहले सभी पहलुओं की जाँच स्वं करलें और योजना के प्रस्ताव फॉर्म को भालीभाती समझ कर ही निवेश करें | आप द्वारा किये गए किसी भी निवेश की जिम्मेदारी इस वेबसाइट की नहीं होगी |

Subscribe Us on Youtube

Like Us Facebook

How to Keep Safe Debit Card and Credit Card

प्लास्टिक मनी इस्तेमाल करते समय बरतें ये सावधानियां


अक्सर हमारे मन में कुछ प्रश्न आते हैं जैसे- How to protect your debit card? debit card vs credit card protected.

वर्ल्ड वाइड वेब (www) के जन्मदाता टिमोथी जॉन बर्नर्स ली ने कहा कि "नव प्रवर्तन नसीब से होता है, इसलिए आप यह नहीं जान पाते कि किसने यह किया है।" इंटरनेट को देखें तो यह आज कहां तक जा पहुंचा है। यही हाल प्लस्टिक करेंसी का है।


आज तो digital  आधारित भुगतान प्रणाली हमारे जीवन का हिस्सा  बन गया है। ध्यान रखने वाली बात यह है कि जहां सुविधा होती है वहीं जिम्मेदारी भी बढ जाती है, यदि आप सतर्क रहते हैं तो आप तरंगों में उडान मारते हुए सुरक्षित बैंकिंग कर सकते हैं।

प्लास्टिक करेंसी के उपयोग में क्या सावधानी बरतें ?
जब भी हम Plastic Money का प्रयोग करते हैं तो मन में ये सवाल होता है जैसे Safety in using Plastic Money
प्लास्टिक करेंसी का उपयोग करते समय कुछ नियमों का पालन करना भी जरूरी है। आप अपना गोपनीय विवरण जैसे कि Card No., Expiry Date, CVV No, Grid Value, अपनी जन्मतिथि, ATM Pin, 3D Secure Pin and OTP किसी से फोन कॉल या ईमेल से  साझा न करें।


अगर सरल भाषा में आपको समझाएं तो आपको अपने घर की चाबी किसी अनजान व्यक्ति को नहीं सौंपनी चाहिए, इसी प्रकार का व्यव्हार अपने कार्ड के प्रति भी आप रखें जो कि आपके बैंक खाते या या जमा पूंजी की ‘‘चाबी‘‘ है। और इस बात का ध्यान रख कर अपने Debit Card को safe रख सकते हैं और उसे Online fraud से बचा सकते हैं |

याद रहे बैंक आपसे कभी भी उपरोक्त जानकारियों के बारे में नहीं पूछता है । यदि आपको ऐसी फोन कॉल मिलती है भी है कि जिसमें आपकी कार्ड का विवरण मांगा जाता है, आपको तत्काल इस नम्बर की जानकारी तथा व्यक्ति के बारे में सारी जानकारी बैंक और पुलिस को चाहिए। यह आपको सदैव सतर्क रहने में मदद मिलेगी और ऐसी कोई सूचना नहीं दे जो अन्य नहीं जानता हो।
इसे भी पढ़ें :

बैंक को देते रहें नवीनतम जानकारी



अपने बैंक को अपना नवीनतम सम्पर्क विवरण देते रहे ताकि इससे आपके खाते की गतिविधियों को अद्यतन (अपडेट) करने में आसानी रहेगी। इससे न केवल आपके कार्ड के उपयोग नियंत्रित होगा बल्कि कोई अन्य  व्यक्ति के खाता प्रयोग से भी आप सतर्क रह सकेंगे।

इसी प्रकार, अपने Card uses pattern को भी तत्काल बदल कर यह आपके बैंक के लेन देन की सीमा आपकी जरूरत के अनुसार निर्धारित करने में मददगार होगा। उदाहरण के लिए जब आप विदेश यात्रा पर हो, आप अपने घरेलू उपयोग की सीमा को कम कर सकते हैं और इस प्रकार आप किसी की धोखाधडी से बच कर रह सकते हैं।

स्टेटमेंट पर रखें निगाह
यह भी आपके लिए जरुरी है कि आप अपने खाते को नियमित रूप से Access करते रहे तथा बैंक खाते, Debit Card Statement और Credit Card Statement पर भी निगरानी रखें। यदि इसमें आपको किसी प्रकार का अनाधिकृत लेनदेन दिखाई देता है तो तत्काल इसकी सूचना अपने बैंक को दीजिए और चार्ज बैक उठाइए।

चिप कार्ड को दें प्राथमिकता
to make debit/credit card using safe आपको चिप card की तरफ मुड़ना चाहिए |  अधिकतर बैंक EMV Card  की ओर अग्रसर हैं। यह चिप कार्ड पूर्ण रूप से और अधिक सुरक्षित है, क्योंकि किसी स्टोर में प्रत्येक बार कार्ड का उपयोग करने से एक अनूठा वन टाइम कोड जनरेट होता है, जिससे लेनदेन का अनुमोदन होता है।
यह आपको अपने कार्ड पर सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत प्रदान करती है। इस सुविधा से कार्ड की डुप्लीकेट कॉपी करना वास्तव में असंभव होगा और कोई आपके कार्ड का नकली कार्ड नहीं बना सकेगा।

खुद डालें अपना पिन

खुद डालें अपना पिन

आप यदि किसी दुकानदार के यहां अपना Card Swap  करवा रहे हैं, तो अपनी एटीएम पिन स्टोर मालिक या रिटेलर से लेनदेन के समय कदापि साझा नहीं करें, ऐसी स्थिति में यदि वह आपसे इसके बारे में पूछता है, तो यह सलाह दी जाती है कि अपना पिन नम्बर स्वयं एंटर करे और वह भी इस तरीके से कि इसे कोई दूसरा नहीं देख सके।

दुकान पर लेनदेन के समय यह सुनिश्चित कर लें कि कार्ड पर आपकी सतत नजर बनी रहे ताकि किसी को कार्ड के विवरण की नकल करने का अवसर नहीं मिल सके। एटीएम पिन नम्बर या कार्ड से सम्बन्धित कोई भी सूचना कार्ड के एनवलप, डायरी या मोबाइल फोन पर नहीं लिखें।

नियमित समय पर PIN बदलते रहें 

यह भी सुनिश्चित करलें कि आपको हर छठे महीने अपने कार्ड का पिन नम्बर बदल लेना चाहिए। इससे फायदा यह होता है कि यदि आपका पिन किसी ने जान लिए है तो आपके पिन बदलने से उसे होने वाले fraud से बच सकते हैं |

चार्ज स्लिप के खाली स्थान पर आप को लाइन खींचनी

 यह भी तय करले कि आपकी चार्ज स्लिप के खाली स्थान पर आप को लाइन खींचनी है ताकि दुकानदार कोई अतिरिक्त प्रभार उसमें नहीं जोड सके। याद रहे, यह स्थान टिप के लिए रिक्त रखा जाता है, और ऐसी स्थिति में जब आप टिप नहीं देना चाहते इस खाली जगह पर लाइन खींच दीजिए।
Online Banking Safety की और अधिक जानकारी के लिए ये video देखें :

Is it safe to use debit card or credit card online सवाल के जबाब में अन्य बातें जो ध्यान में रखनी चाहिए :

1 - प्रतिष्ठित और जानकार मर्चेंट से करें ऑनलाइन शापिंग
2- जहां तक ऑनलाइन/ई-कॉमर्स का सवाल है, अच्छी तरह का एन्टीवायरस सॉफ्टवेयर आपके भुगतानों को लम्बे समय तक सुरक्षित रख सकता है।
3- विदेश में एक ही कार्ड से लेनदेन करें| 
4 - पास वर्ड को जितना सुदृढ बना सकते हैं बनाए
5- आकर्षक या प्रलोभनकारी ईमेल्स, विदेशी लॉटरी के प्रलोभन या आरबीआई के नाम से प्राप्त होने वाली इमेल्स के चक्कर में नहीं पडे। 
6 - किसी भी खरीदारी ऑनलाइन भुगतान करते समय उस वैण्डर के बारे में अतिरिक्त शोध भी करें।

सार की बात यह है कि आज विश्व जितना निकट आ गया है तो हैकर्स उससे भी अधिक निकट हैं, इसलिए यह उचित रहेगा कि आपके कार्ड और पिन को सुरक्षित रखें। आखिरकार, कोई अपने पैसे के प्रति भला सतर्क क्यों नहीं रहना चाहेगा।


मित्रों यदि आपको ये लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों में शेयर करें |

आप इसी तरह के लेख पढ़ने के लये इस पेज में सबसे ऊपर subscribe पर क्लिक कर अपना email लिख कर हमसे जुड़ सकते हैं |

आप निचे click करके हमें YouTube और Facebook पर Follow कर सकते हैं |

Interested for our works and services?
Get more of our update !